आतंकियों की नकेल कसने में जुटा पाकिस्तान

GN Bureau | Friday 17 February 2017

आतंकियों की नकेल कसने में जुटा पाकिस्तान

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सूफी दरगाह पर हुए आतंकी हमले के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने पूरे देश में आंतकियों को ढ़ूंढ़ कर मारना शुरु किया है। सिंध के शाहबाज कलंदर दरगाह पर हुए आत्मघाती हमले में 70 से ज्यादा लोगों की मौत के बाद पाकिस्तान ने पूरे देश में आतंकियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर अभियान छेड़ दिया है। पाकिस्तान सरकार के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि विभिन्न शहरों में दर्जनों संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। उनके अनुसार  कई जगहों पर मुठभेड़ में 37 आतंकवादियों को मार गिराने का भी दावा किया गया। उस अधिकारी के मुताबिक, आने वाले कुछ दिनों तक यह अभियान जारी रहेगा।

इधर पैरामिलिटरी रेंजर्स की ओर से बयान जारी कर के बताया गया है कि सिंध प्रांत में चलाए गए ऑपरेशन में कम से कम 18 आतंकियों को ढेर किया गया। वहीं, पुलिसवालों के मुताबिक, खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में भी 11 आतंकी मारे गए। जबकि पेशावर के रेगी इलाके में भी एक सर्च ऑपरेशन में तीन आतंकियों को मार गिराने का दावा किया गया है। इनके पास से भारी तादाद में हथियार और गोला बारूद बरामद किए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि अफगानिस्तान सीमा से सटे एक चेकपोस्ट पर भी आतंकियों के हमले के बाद जवाबी कार्रवाई में चार आतंकी मार गिराए गए।

गौरतलब है कि सिंध प्रांत के सहवान कस्बे में स्थित लाल शाहबाज कलंदर दरगाह के भीतर गुरुवार रात एक आत्मघाती हमलावर द्वारा किए गए विस्फोट में 70 से अधिक लोगों की मौत हो गई और 150 से अधिक लोग घायल हो गए। आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। सूफी दरगाह पर यह हमला उस वक्त हुआ है जब एक दिन पहले ही पाकिस्तान सरकार ने देश में आतंकी हमलों में हुई बढ़ोतरी को देखते हुए उन सभी तत्वों को मिटाने  का संकल्प लिया था जो देश में शांति एवं सुरक्षा पर खतरा पैदा कर रहे हैं।

आतंकी हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने शुक्रवार को अफगानिस्तान के दूतावास के अधिकारियों को रावलपिंडी स्थित जनरल हेडक्वॉटर्स बुलाया। साथ ही अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल करके पाकिस्तान के खिलाफ हमलों की साजिश रचे जाने का आरोप लगाते हुए विरोध जताया। अफगान अधिकारियों को पाकिस्तान की ओर से 76 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट सौंपी गई। बाद में इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक ट्वीट करके इसकी पुष्टि की। गफूर के मुताबिक, अफगानिस्तान से कहा गया है कि वह या तो आतंकियों के खिलाफ `तत्काल ऐक्शन` ले या फिर उन आतंकियों को उन्हें सौंप दे।
 


Hindi News