गैरकानूनी होगा ट्रिपल तलाक

GN Bureau | Friday 15 December 2017

गैरकानूनी होगा ट्रिपल तलाक

अब ट्रिपल तलाक देने वालों की खैर नहीं। सरकार जल्द ही ट्रिपल तलाक पर कानून ला रही है। शुक्रवार को ट्रिपल तलाक के खिलाफ संसद के शीतकालीन सत्र में पेश होने वाले विधेयक के मसौदे पर मोदी कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। इसको `मुस्लिम वीमेन प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज बिल` कहा जाएगा। इसक बिल के तहत यदि पति, पत्नी को एक बार में तीन तलाक देता है तो उसे तीन साल की जेल हो सकती है। पति को जमानत भी नहीं मिल सकेगी। इसके अलावा पत्नी और बच्चों के लिए हर्जाना भी देना पड़ेगा।

केंद्र सरकार की ओर से तैयार विधेयक के मसौदे में कहा गया है कि एक बार में तीन तलाक गैरकानूनी होगा। किसी भी स्वरूप में दिया गया ट्रिपल तलाक चाहे वो मौखिक हो, लिखित हो या फिर इलैक्ट्रॉनिक इसे गैर कानूनी माना जाएगा। अगर किसी महिला को ट्रिपल तलाक दिया जाता है तो वह महिला खुद और अपने नाबालिग बच्चों के लिए अपने पति से भरण-पोषण व गुजारा-भत्ते की मांग कर सकती है।

गौरतलब है कि बीजेपी ने तीन तलाक को बड़ा मुद्दा बनाया हुआ है। यूपी चुनावों के दौरान बीजेपी ने जोर शोर से ट्रिपल तलाक का विरोध किया था। चुनाव परिणामों के बाद बीजेपी ने दावा किया था कि उसे मुस्लिम महिलाओं का ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर वोट मिला है। ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा था कि इस मुद्दे पर केंद्र सरकार चाहे तो कानून बना सकती है। उसके बाद ही इस संबंध में सरकार की तरफ से कानून बनाने के कयास लगाए जा रहे थे।

शीतकालीन सत्र में बिल को संसद में पेश कर इसे बनाने के लिए दोनों सदनों से इसे पारित कराया जाएगा। जानकारों का कहना है कि संसद चाहे तो इसे पीछे की तारीख से भी लागू कर सकती है, जिससे उन महिलाओं को न्याय मिल सके जो पहले से ट्रिपल तलाक की व्यथा से गुजर रही हैं।


Hindi News