जाधव को राजनयिक पहुंच देने से पाक का फिर इनकार

GN Bureau | Thursday 14 December 2017

जाधव को राजनयिक पहुंच देने से पाक का फिर इनकार

जासूसी और विध्वंसकारी गतिविधियों के आरोप में पाकिस्तान की जेल में कैद पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को एक बार फिर राहत नहीं मिली है। बुधवार को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच देने से इनकार कर दिया है। पाक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आईसीजे में अपनी दलील में पाकिस्तान ने कहा है कि वियना कन्वेंशन के प्रावधानों के तहत राजनयिक पहुंच सिर्फ आम कैदियों को ही मुहैया कराया जाता है, उन कैदियों को नहीं जिन्हें जासूसी के आरोप में पकड़ा गया है। अपनी दलील को असरदार बनाने के लिए पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि भारत कुलभूषण जाधव से पाकिस्तान में इकट्ठा की गई सूचना लेना चाहता है इसलिए वह राजनयिक पहुंच के लिए दबाव बना रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने इस बात का कभी ठोस जवाब नहीं दिया कि कुलभूषण जाधव मुस्लिम नाम के पासपोर्ट पर यात्रा क्यों कर रहे थे। पाकिस्तान लगातार ये कहता आ रहा है कि जासूसी के मकसद से ईरान के रास्ते पाकिस्तान के बलूचिस्तान में दाखिल हुए जाधव को उसके सुरक्षा बलों ने 3 मार्च को गिरफ्तार किया था। इसके उलट भारत का कहना है कि नौसेना से रिटायर कुलभूषण जाधव कारोबार के सिलसिले में ईरान में थे जहां से उन्हें अगवा किया गया।

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में गिरफ्तार किए पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान के आर्मी कोर्ट ने इसी साल अप्रैल महीने में मौत की सुनाई थी। हालांकि आर्मी कोर्ट के इस फैसले पर आईसीजे ने अगली सुनवाई तक रोक लगा रखी है।

आईसीजे में राजनयिक पहुंच देने की मांग ठुकराने से कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को उनकी मां और पत्नी से मिलने की इजाजत दी थी। 25 दिसंबर को जाधव की अपनी मां और पत्नी से मुलाकात हो सकती है।


Hindi News