प्रभु ने की इस्तीफे की पेशकश

GN Bureau | Wednesday 23 August 2017

प्रभु ने की इस्तीफे की पेशकश

पांच दिनों में उत्तर प्रदेश में हुए दो बड़े ट्रेन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने अपने इस्तीफे की पेशकश की है। प्रभु ने ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दी है। प्रभु ने अपने ट्वीट में लिखा है की वो इन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी लेते हैं और उन्हें इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना का बेहद दुख है। प्रभु ने एक ट्वीट में ये भी बताया है की उनके इस्तीफे की पेशकश पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभी उन्हें इंतजार करने के लिए कहा है।

बुधवार सुबहे एक के बाद एक कई ट्वीट कर के रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेल हादसे पर खेद जताया और अपने इस्तीफे की बात की। इन ट्वीट्स के जरिये प्रभु ने न केवल इन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी ली, बल्कि अपना पक्ष रखने की भी कोशिश की। 

गौरतलब है कि बीते शनिवार को उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के निकट पुरी से हरिद्वार जाने वाली कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी, इस हादसे में कई लोगों की मौत हो गयी थी और करीब 6 दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। वही बुधवार तड़के कैफियत एक्सप्रेस की दुर्घटना के बाद रेलवे प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लग रहा है। 

इससे पहले रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ए के मित्तल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद विपक्ष ने इन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु से उनके इस्तीफे की मांग की थी।


Hindi News