People

  सैटेलाइट क्षेत्र में भारत के तेज होते कदम, इंटरनेट सेवाओं को मिलेगी गति
Monday 08 January 2018
सैटेलाइट क्षेत्र में भारत के तेज होते कदम, इंटरनेट सेवाओं को मिलेगी गति भारत में इंटरनेट सेवाएं जल्द ही पहले से मजबूत और बेहतर होंगी। इसरो जल्द ही देश के सबसे भारी कम्युनिकेशन सैटेलाइट जीसैट-11 को लॉन्च करने जा रहा है। इस सैटेलाइट के सफल प्रक्षेपण से भारत में संचार क्रांति को मजबूती मिलेगी। इससे इंटरनेट और टेलीकॉम सेवाओं में काफी बदलाव देखने को मिलेगा। जीसैट-11 का वजन 5.6 टन है और इसे इसी महीने फ्रेंच गुयाना से एरियन-5 रॉकेट के जरिए लॉन्च किया जाएगा। जीसैट-11 इसरो के इंटरनेट बेस्ड सैटेलाइट का हिस्सा है जिसका काम इंटरनेट की स्पीड को बढ़ाना है। इसरो की योजना के तहत 18 महीने में अंतरिक्ष में तीन सैटेलाइट स्थापित किए जाने हैं। सीरीज का पहला सैटेलाइट जीसैट-19 जून में 2017 में भेजा गया था। सीरीज का तीसरा और आखिरी सैटेलाइट इस साल के आखिर में भेजने की योजना है। जीसैट-11 से देशभर में इंटरनेट की स्पीड पहले से काफी बेहतर जाएगी। बिना डिश लगाए लोग अब टीवी देख सकेंगे। बैंकिंग सिस्टम की मजबूती के अलावा साइबर सुरक्षा भी इसके बाद मजबूत की जा सकेगी। साथ ही पहली बार भारत को अपना सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट मिल सकेगा। इसके अलावा डिजिटल इंडिया अभियान को ...Read More
 
 
  समलैंगिकता को अपराध बताने वाली धारा 377 पर SC करेगी पुनर्विचार
Monday 08 January 2018
समलैंगिकता को अपराध बताने वाली धारा 377 पर SC करेगी पुनर्विचार समलैंगिक अधिकारों को लेकर अपनी मांगों के समर्थन में खड़े लोगों की उम्मीदों को एक बार फिर बल मिला है। सुप्रीम कोर्ट भारतीय दंड संहिता की धारा 377 की समीक्षा के लिए तैयार हो गया है। समलैंगिकता को अपराध बताने वाली इस धारा पर दोबारा विचार के लिए देश की शीर्ष अदालत तैयार हो गई है। कोर्ट ने इस मामले को बड़ी बेंच को रेफर किया है। 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले को पलटते हुए बालिग समलैंगिकों के शारीरिक संबंध को अवैध करार दिया था।  चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच ने अपने फैसले में कहा है कि आईपीसी की धारा 377 के तहत समलैंगिकता को अपराध मानने के फैसले पर संविधान पीठ पुनर्विचार करेगी। धारा 377 के तहत समलैंगिक संबंध बनाने पर दोषियों को उम्र कैद तक की सजा हो सकती है। एलजीबीटी समुदाय की ओर से दायर अर्जी पर सुनवाई करते हुए अदालत ने इस मुद्दे पर केन्द्र सरकार से भी जवाब मांगा है। गौरतलब है कि एलजीबीटी के पांच सदस्यों ने अपनी अर्जी में कहा था कि अपनी प्राकृतिक यौन इच्छाओं के कारण वे हमेशा डर के साये में जीते हैं।&nbs ...Read More
 
 
  मुंबई के बाद अब बेंगलुरु, बार में आग लगने से 5 की मौत
Monday 08 January 2018
मुंबई के बाद अब बेंगलुरु, बार में आग लगने से 5 की मौत बेंगलुरु के एक बार में लगी आग से उसी बार के अंदर सोए 5 कर्मचारियों की दर्दनाक मौत हो गयी।  ...Read More
 
 
  हिज्बुल में शामिल हुआ एएमयू का पीएचडी स्कॉलर?
Monday 08 January 2018
हिज्बुल में शामिल हुआ एएमयू का पीएचडी स्कॉलर? अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहा एक छात्र कथित रूप से हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है। छात्र का नाम मन्नान वानी है। एके-47 के साथ उसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। 26 वर्षीय मन्नान वानी एएमयू में जियोलॉजी से पीएचडी कर रहा था। कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का रहने वाला मन्नान जनवरी के पहले हफ्ते में अपने घर लौटने वाला था। लेकिन तय वक्त पर जब वो अपने घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई। पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी ही थी कि 5 जनवरी को एके-47 के साथ उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर आ गई जिसके साथ ये लिखा था कि उसने आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन ज्वाइन कर लिया है। परिजनों का कहना है कि 4 जनवरी से उनका मन्नान से कोई संपर्क नहीं हो पाया है। उसका मोबाइल फोन लगातार स्विच ऑफ आ रहा है। दो दिन की कोशिश के बाद भी जब मन्नान का कोई पता नहीं चला तो उन्होंने पुलिस में मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर वायरल फोटो को देखकर इस बात की अभी पुष्टि नहीं की जा सकती उसने आतंकी संगठन ज्व ...Read More
 
 
  रेलवे के नाम नया रिकॉर्ड, 7 घंटे में बनाया पुल
Friday 05 January 2018
रेलवे के नाम नया रिकॉर्ड, 7 घंटे में बनाया पुल भारतीय रेल ने महज सात घंटे में एक रेल पुल बनाकर मिसाल पेश की है। रिकॉर्ड समय में बने इस पुल निर्माण के लिए रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग की काफी तारीफ हो रही है। उत्तर प्रदेश के नजीबाबाद और मुरादाबाद के बीच बुंदकी स्टेशन के पास ये नया पुल रिकॉर्ड टाइम में बनाया गया है। इस पुल को बनाने में 7 घंटे 20 मिनट का समय लगा। पुल के निर्माण कार्य में 70 मजदूर लगे थे। डीआरएम अजय कुमार सिंघल ने पुल निर्माण में लगे सभी लोगों को बधाइयां दी है। 3 जनवरी को रेलवे के इंजीनियर्स अपनी टीम के साथ करीब 10 बजे साइट पर पहुंचे। पुराने पुल को तोड़ने के बाद उसका मलबा 1.30 बजे तक हटा दिया गया। और फिर 3 बजने के चंद मिनटों बाद ही पुल का ढांचा तैयार कर दिया गया। शाम 5.15 बजे तक पुल पर लाइन भी बिछा दी गई। ठीक 25 मिनट बाद शाम इस पुल से देहरादून से इलाहाबाद जाने वाली लिंक एक्सप्रेस को धीमी गति से गुजारा गया। इसके बाद दूसरी ट्रेनों का परिचालन भी शुरू कर दिया गया। इस पुल को बनाने में फैब्रिकेटेड मैटेरियल का इस्तेमाल किया गया।  इस नए पुल से अब ट्रेनें 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकती हैं। इससे प ...Read More