Performance

  जन सूचना अधिकारी की नियुक्ति में पारदर्शिता नहीं?
Tuesday 18 April 2017
जन सूचना अधिकारी की नियुक्ति में पारदर्शिता नहीं? केंद्र सरकार ने आरटीआई कानून में कुछ बदलाव लाने के लिए एक मसौदा तैयार किया है लेकिन आरटीआई कार्यकर्ता इन बदलाव के प्रस्तावों से खुश नहीं हैं, उनका मानना है कि इस कानून के मौजूदा प्रावधानों पर ही सही तरीके से अमल नहीं हो रहा है, सरकार पहले इस पहलु पर काम करे। ...Read More
 
 
  फिर से उतर गई पटरी से ट्रेन
Thursday 30 March 2017
फिर से उतर गई पटरी से ट्रेन उत्तर प्रदेश के महोबा में गुरुवार की सुबह महाकौशल एक्सप्रेस की 8 बोगियां पटरी से उतर गई, जिसमें कम से कम 22 लोग घायल हो गए। ...Read More
 
 
  अब रेल टिकट बुक करना होगा आसान
Wednesday 29 March 2017
अब रेल टिकट बुक करना होगा आसान रेलवे ऐग्माटेल के साथ मिलकर सभी स्टेशनों पर ऐसे अत्याधुनिक मशीन लगाने जा रही है जिसका इस्तेमाल करके लोग खुद अपना टिकट बुक कर सकेंगे। अब लोगों को टिकट के लिए लंबी लाइनों में नहीं लगना पड़ेगा।  ...Read More
 
 
  गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे योगी
Monday 27 March 2017
गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे योगी यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट था गोमती रिवर फ्रंट जिसे वो अत्याधुनिक खूबसूरत पर्यटक स्थल के रुप में विकसित करना चाहते थे। इससे पहले कि वो बन पाता सरकार बदल गयी। अब प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ सोमवार को लखनऊ के सौंदर्यीकरण के कार्यों का जायजा लेने के लिए गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे। यहां उन्होंने निर्माण कार्य का जायजा लिया, अधिकारियों से साथ बैठक की और अव्यवस्था देख अधिकारियों को फटकार भी लगाई। सीएम योगी ने गोमती रिवर फ्रंट के लिए एक साल की डेडलाइन निर्धारित की और अधिकारियों को निर्देश दिया कि इसका काम एक साल में पूरा हो जाना चाहिए। उनके साथ उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के साथ आधा दर्जन कैबिनेट मंत्री भी थे। गोमती रिवर फ्रंट पर काम की प्रगति को लेकर बेहद गंभीर मुख्यमंत्री ने इस प्रोजेक्ट से जुड़े सभी अधिकारियों को बुलाया और उनके साथ बातचीत करके  कार्य प्रगति की रिपोर्ट ली। गुजरात के अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट की तर्ज पर अखिलेश सरकार ने गोमती नदी के तट पर रिवर फ्रंट बनाने की योजना तैयार की थी। तीन हजार करो ...Read More
 
 
  गाजियाबाद में 44 पुलिसकर्मी निलंबित
Wednesday 22 March 2017
गाजियाबाद में 44 पुलिसकर्मी निलंबित उत्तर प्रदेश में सरकार बदलते ही सभी विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए। जहां एक तरफ नोएडा अथॉरिटी ने बिल्डरों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है वहीं दूसरी ओर गाजियाबाद में 44 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। निवेशकों को झूठे दावों में फांस कर घर देने के वादा करने वाले बिल्डरों पर नोएडा अथॉरिटी ने कार्रवाई शुरु कर दी है। इस कार्रवाई में एक बिल्डर का भूखंड आवंटन रद्द कर दिया गया है। इससे पहले भी चार बिल्डरों के भूखंड आवंटन को रद्द किया जा चूका है और अभी इस लिस्ट में 13 और बिल्डर लाइन में हैं। हालांकि अथॉरिटी की इस कार्रवाई से निवेशकों को परेशानी होने लगी है। जिस बिल्डर पर मंगलवार को कार्रवाई हुई है, वहां करीब हजार निवशकों ने पैसा लगा रखा है। वहीं गाजियाबाद में एसएसपी दीपक कुमार ने एक दिन में हीं 44 हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है। ये सभी पुलिसकर्मी एलआईयू की दी हुई जांच रिपोर्ट पर हटाये गए है। इन सभी पर अनुशासनहीनता एवं अनियमितता के आरोप लगे हैं। हैरत की बात ये है कि पिछले 5 साल से अलग अलग चौकियों और थानों में तैनात इन पुलिसकर्मियों प ...Read More